हिंदी में मारुबुजो candlestick pattern टेक्निकल analysis कैसे करें

मारुबुजो टेक्निकल analysis कैसे करें हिंदी में पूरी जानकारी :- Hello नमस्कार दोस्तों और आज इस अर्टिकल में हम hindi me marubozu technical analysis के बारे में हिंदी पूरी जानकारी जानने वाले जैसे कि मारुबुजो को कैसे पहचाने, मारुबुजो  के क्या फायदे आदि के बारे में इस आर्टिकल में थोड़ा विस्तार से जानेंगे। इसलिए यह आर्टिकल आप सभी के लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है। यदि आपको मारुबुजो के बारे में नही पता है और इसके बारे में जानने के लिए आप गूगल Google पर सर्च कर रहे है तो आज बिल्कुल सही article पड़ रहे है क्योंकि यह आपको मारुबुजो पैटर्न Marubozu Pattern की स्पम्पूर्ण जानकारी को शेयर की गया है। hindi me marubozu technical analysis

आपकी जानकारी के लिए बता दे की मारुबुजो पैटर्न हमे विशेष रूप से टेक्निकल चार्ट पर देखने को मिलता है। क्योंकि मारुबुजो एक कैंडिलस्टिक चार्ट पैटर्न होता है। मारुबुजो चार्ट में हमे 1 कैंडिलस्टिक देखने को मिलते है जो कि रेड और ग्रीन कलर के होते है। ग्रीन कलर कैंडल को हम बुल मतलब की बुलिश कहते है और रेड कलर के कैंडल को बीआर मतलब की बीअरिश कैंडल कहते है। लेकिन यदि हम मारुबुजो पैटर्न की भाषा की बात करे तो मारुबुजो को व्हाइट मारुबुजो और बीअरिश मारुबुजो  मतलब की ब्लैक मारुबुजो वाइट मारुबुजो और जो एक बुलिश केंडल है और ब्लैक मारुबुजो जो कि बीअरिश कैंडल है चलिए इसके बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए इस आर्टिकल को  पड़ते है –

मारुबुजो को कैसे पहचाने

ऊपर हमने मारुबुजो कैंडलस्टिक पैटर्न के बारे में थोड़ा सा जाना कि है क्या है मारुबुजो टेक्निकल analysis यह किस तरह के होते है या फिर मारुबुजो कैंडलस्टिक पैटर्न ( Marubozu Candlestick Pattern ) किस कलर के होते है, इस तरह की जानकारी के बारे में हमने ऊपर जाना है। और अब बात करते है कि Marubozu की पहचान कैसे करे। चलिये इसके बारे में जानते है दोस्तों जैसा कि हम आपको ऊपर बता चुके है कि मारुबुजो 2 कलर के होते है एक white marubozu और दूसरा black marubozu अब ब्लैक मरुभोजू , वाइट मारुबुजो की पहचान कैसे करे चलिये इसके बारे में एक करके विस्तार से जानते है-

hindi me marubozu technical analysis
हिंदी में मारुबुजो candlestick pattern टेक्निकल analysis कैसे करें

वाइट मारुबुजो कैसे पहचाने white marubozu

मारुबुजो की बात करे तो इसको पहचाना बहुत ही आसानी है। जैसे कि वाइट मारुबुजो आज के दौर में हमे ग्रीन कैंडल ( green candle ) में मिलेगा। जबकि यह पहले white कैंडल ( white candle ) हुआ करते थे। लेकिन आज यह ग्रीन कैंडल में मिलते है। और इन्ही को आज हम चार्ट में देखते है। तो आपको बता दे कि जो वाइट कैंडल होते है उनमें क्लोस और हाई प्राइस high price एक जैसा ही रहता है। मतलब ओपन प्राइस open price और क्लोस प्राइस close price दोनों ही same रहेंगे। जैसे को अगर कोई शेयर प्राइस 100 रुपये में ओपन होता है तो उसकी high price भी 100 रुपये ही होगी। वही यदि शेयर की open price 90 है तो उसका उस शेयर का low price भी 90 ही होगा। बता दे कि वाइट कैंडल में हमे सैडू देखने को मिलता है। सैडू जो कि कैंडल के बीच में डंडा जैसा एक टेल देखने को मिलता है जिसे हम सैडू और टेल दो नाम से जानते है। लेकिन मार्किट के भाषा मे इसे सैडू कहते है। यह दो तरह के होते है एक अपर सैडू, upper shadow और लोअर सैडू lower shadow तो अधिकतम कैंडल चार्ट में देखने को मिलेगा की ज्यादा से ज्यादा कैंडल में ऊपर की ओर सैडू रहेगा और एक नीचे की ओर एक सैडू रहेगा। लेकिन मारुबुजो में आपको ना कोई ऊपर की ओर सैडू देखने को मिलेगा ना ही कोई नीचे सैडू देखने को मिलेगा वाइट मारुबुजो green candle ही रहेगा जिसका ओपन प्राइस और क्लोस प्राइस दोनों ही same रहेंगे। तो इस तरह से हम बड़ी ही आसानी से white marubozu की पहचान कर सकते है-

ब्लैक मारुबुजो कैसे पहचाने Black Marubozu 

ब्लैक मारुबुजो की बात करे तो यह आगे की दौर में जैसे वाइट हुआ करता था उसी तरह से ब्लैक मारोबोजो भी हुआ करता था। लेकिन आज के दौर जैसे ग्रीन कैंडल ( green candle ) हुआ करता और रेड कैंडल ( red candle )भी हुआ करते है। जैसे कि हमने ऊपर आपको बताया कि ग्रीन कैंडल को बुलिश  कहते है और रेड कैंडल को बीअरिश कैंडल कहते है। तो black marubozu red कलर का कैंडल रहेगा और कैंडल की ओपन प्राइस और हाई प्राइस same रहेगी। जैसे कि यदि किसी शेयर की ओपन प्राइस 100 रुपये है तो उसका हाई प्राइस भी 100 रुपये रुपये रहेगा। और ब्लैक।मारुबुजो कैंडल की क्लोज प्राइस और low प्राइस भी same रहेगी। जैसे कि यदि closing 90 में है तो उसका low भी 90 ही रहेगा। मतलब की ओपन और हाई दोनों same प्राइस है। क्लोज और low प्राइस भी same है। तो इस तरह से हम बड़ी ही आसानी से ब्लैक मरुभोजू को पहचान सकते है। इसके हम ब्लैक मारुबुजो के हम ऐसे भी पहचान सकते है की कैंडल की मिड पॉइंट पर मतलब की कैंडल के बीच में कोई भी सैडू नही रहेगा ना कोई अपर सैडू रहेगा ना लोअर सैडू रहेगा। जिस तरह से वाइट मारुबुजो में कोई अपर और लोअर सैडू नही रहती है उसी तरह से इसकी भी कोई अपर या लोअर सैडू नही रहती है।

मारुबुजो पहचान की कुछ अन्य तकनीक

बैसे तो हम आपको ऊपर मारुबुजो कैसे पहचाने इसके बारे में विस्तार से बता ही चुके है और उम्मीद है कि आपको समझ आ गया होगा। अब हम आपको यहां मारुबुजो के पहचान के कुछ और तकनीक के बारे में बताते है जैसे मारुबुजो चार्ट में कभी भी कही भी देखने को मिल सकते है।मारुबुजो बनने से पहले शेयर की पोजीशन क्या था उसका कोई महत्व नही होता है मारुबुजो विशेष रूप से रियल बॉडी में देखने को मिलता है। लेकिन मार्किट इसके अलावा छोटा मारोबाज़ों को ऊपर और लोअर में भी ऑक्सीपेट किया जाता है। लेकिन जब किसी कैंडल का कोई भी अपर या लोअर सैडू नही रहता है सिर्फ रियल बॉडी सैडू रहता है तब हम उसे पूरी तरह से मारुबुजो माना जाता है।

मारुबुजो के फायदे

मारुबुजो का हम किस तरह से फायदा उठा सकते है इसके बारे में जानते है।हमने ऊपर बताया कि मारुबुजो दो कैंडल होते है एक bullish marubozu दूसरा bearish marubozu, बुलिश मारुबुजो जब चार्ट में दिखता है तब उसका मतलब होता है कि बाजार में बयर्स एक्टिव है। मतलब की एक कैंडल में जब हम देखते है कि कैंडल बॉडी एक रियल बॉडी है, ना उसमे अपर सैडू है और ना ही उसमे लोअर सैडू है और वो कैंडल बुलिश है। उसका मतलब की उस कैंडल में बयर्स एक्टिव है और उस कैंडल में बयर्स कई संख्या ज्यादा है। उस समय पर बयिंग पोजीशन बन रही है और जब buying position ज्यादा होती है तो इसका मतलब की मार्किट को ऊपर की तरफ ले जाना। market sentiment कुछ ऐसा होता है की मार्किट बुलिश मारुबुजो क्लोज होने के बाद एक तरीके से अपनी uptrend rally continue रखने की कोशिश करते है। hindi me marubozu technical analysis

विशेष तौर पर जब मारुबुजो uptrend में देखने को मिलते है तब इसका मतलब होता है कि यहां पर अपट्रेंड रैली कंटिन्यू  रहेगा। यानी कि यहां पर एक कंटिन्यू  पैटर्न फॉर्मूला या चार्ट बन गया है। बीअरिश कैंडल मारोबाजो कुछ इस तरह होता है कि ना यह कैंडल का अपर सैडू होगा ना यहां पर लोअर सैडू होंगे। और यहां बीआरएस मारोबाजो का बनने का मतलब यह है कि यहां सेलर ज्यादा हावी है और उनकी संख्या ज्यादा है।और वह stock price को नीचे धकेलने के लिए हावी है। और bearish candle जैसे ही यहां क्लोस होता है बैसे ही यह सेलर और भी ज्यादा एक्टिव हो जाते है। तब सेलर की सोच कुछ इस तरह से होती है कि जब मारुबुजो क्रिएट हुआ तब मार्किट में share price और गिरेगा। और यह मुख्य तौर पर तब होता है जब डाउनट्रेंड में कोई बीअरिश कैंडल मारुबुजो देखने को मिलता है। बीअरिश कैंडल मारुबुजो जब downtrend में देखने को मिलता है तब डाउनट्रेंड कंटीन्यू रहने की possibility ज्यादा रहती है। तो इस तरह से हम बीअरिश कैंडल के फ़ायदों को समझ सकते है।

बुलिश मारुबुजो कैंडल में ट्रेड कैसे करे

जब हम चार्ट में एक बुलिश देखने को मिलता है तब बुलिश मारुबुजो कैंडल जैसे ही क्लोस होता है। बुलिश मारुबुजो कैंडलके क्लोज होने के बाद हम बुलिश मारुबुजो कैंडल के जो क्लोज प्राइस है उसके ऊपर हम buy करेंगे और बुलिश मारुबुजो  कैंडल का जो लोव प्राइस है उसके नीचे हम सप्लाई करेंगे। आपकी बेहतर जानकारी के लिए बता दे कि मारुबुजो कैंडलका जो टाइम फ्रेम होता है वह कुछ भी हो सकता है बैसे टाइम फ्रेम जितना ज्यादा रहेगा मतलब की 15 मिनट आपको जितना रेलिबिलिटी मिलेगा उससे ज्यादा आपको घंटे में रेलिबिलिटी मिलेगा। मतलब की जितना ज्यादा टाइम फ्रेम रहेगा उतना ही ज्यादा रिलीबिलिटी मिलेगा और आपके लिए उतना ही ज्यादा बेहतर रहेगा।आपको बता दे की टाइम फ्रेम में आपको मारोबोजो मिलेगा ही मिलेगा ऐसा नही है। hindi me marubozu technical analysis

लेकिन ऐसा हो सकता है कि यह आपको आज नही मिलेगा तो कल मिलेगा या फिर अगले दिन मिलेगा मतलब की कभी मिल सकता है और ये भी हो सकता है कि आपको ना भी मिले लेकिन आपको बस इसके लिए टाइम फ्रेम 15, मिनेट जैसे टाइम फ्रेम में आपको अप्लाई करके देखना है और देखना है कि आपको कौन से टाइम फ्रेम में आपको मारुबुजो कैंडल देखने को मिल रहा है।इसके साथ ही आपको इस बात को ध्यान रखना की जब मारुबुजो कैंडलका साइज अगर ज्यादा होती है तब उस समय पर मारुबुजो कैंडल  मतलब की बुलिस कैंडल के ऊपर buy ना करे। यदि buy आप करते है तो मारुबुजो कैंडल का जो मिड पॉइंट है वो आपके लिए स्टॉक प्लस रहेगा। क्योंकि जब कोई मारुबुजो कैंडल बड़े साइज का होता है और उसमें 10 पॉइंट का मोमेंट रहता है। जैसे की आपने 300 रुपये का शेयर सेलेक्ट किया और 300 रुपये की शेयर में एक मारोबोजो देखने को मिला और उस मारोबोजो का रेंज 10 पॉइंट का है।मतलब की ओपन से हाई तक तो उस 10 पॉइंट में यदि आप हाई पर buy करते है तो आपका स्टॉप लोस्स लंबा रहेगा इसलिए ऐसी प्राइस की शेयर में मारुबुजो कैंडल की जो मिड पॉइंट है वहापर अप्लाई कर सकते है। hindi me marubozu technical analysis

बीअरिश मारुबुजो कैंडल में ट्रेड कैसे करे

जैसा कि हमने आपको ऊपर बताया कि बीअरिश कैंडल आपको अपट्रेंड और डौनट्रेंड दोनों में देखने को मिल सकते है लेकिन बता दे जी मारुबुजो कैंडल बनने से पहले ट्रेंड क्या था इसका कोई भी महत्व नही होता है। लेकिन डौनट्रेंड मार्किट में शेयर डाउनट्रेंड में है और उस डाउनट्रेंड में आपको एक बीअरिश कैंडल मारुबुजो कैंडल देखने को मिला तो उसका मतलब होता है कि स्टॉक प्राइस डाउनट्रेंड में है या फिर डाउनट्रेंड में ही रहने की पोसिबलिटी ज्यादा है। क्योंकि यह एक डाउनट्रेंड कंटिन्यू पैटर्न फार्मूला के हिसाब से होता है। बता दे कि बीअरिश कैंडल मारुबुजो में आपको ट्रेड इस तरह से करना है कि बीअरिश कैंडल मारोबोजो की जो क्लोजिंग प्राइस है क्लोजिंग प्राइस के नीचे आपको सेल करना है। और बीअरिश कैंडल मारुबुजो कैंडल की क्लोजिंग प्राइस के नीचे यदि आप सेल करते है तो उसका जो ओपन प्राइस है वो स्टॉक प्लस रहेगा और आपको उसी स्टॉक प्राइस में अप्लाई करना हैं। इसके साथ ही और एक बात का विशेष ध्यान देना है कि यदि आपको डाउनट्रेंड में बीअरिश कैंडल देखने को मिला और बीअरिश कैंडल का साइज बहुत ज्यादा है तो उस समय पर आपकी stop loss मारुबुजो कैंडल की मिड पॉइंट पर होना जरूरी है।वरना आपकी जो stop-loss है वो लंबा हो जाएगा और आपको ज्यादा नुकसान का सामना करना पड़ सकता है। hindi me marubozu technical analysis

जैसे की यदि 500 रुपये की शेयर में देखा की मारुबुजो कैंडल का रेंज 15 पॉइंट का है या फिर 10 पॉइंट का अगर 10 पॉइंट का होता है तो आप 5% का stop loss लेकर चल सकते है। और यदि मार्किट में सेलर सच मे हावी है स्टॉक को नीचे धकेलने के लिए क्योंकि डाउनट्रेंड में मारुबुजो कैंडलजैसे ही क्लोज होगा बैसे ही मारुबुजो कैंडल क्लोस होने के बाद सेलर्स और भी ज्यादा एक्टिव रहेंगे सेलर पोजीशन बनाने के लिए। तब इस स्थिति में ट्रेडर की सोच यह होती है कि  स्टॉक प्राइस नीचे रहेगा। लेकिन ऐसा भी हो सकता है कि वह कुछ नीचे गिरने के बाद ऊपर की तरफ आ जाये। इसलिए आपकी stop loss छोटा होना जरूरी होता है। तो ऐसे में मारोबोजो कैंडल का साइज है वो आपको स्टॉक प्राइस के अनुसार तय करना है।जैसे की यदि 1000 का शेयर है और 1000 के शेयर में वो 15 पॉइंट का उसमे रेंज है उस मारोबोजो का तो आपको उसके मिड पॉइंट पर स्टॉक को अप्लाई करना हैं। तो आपका स्टॉक 7 पॉइंट का होगा और यदि 10 पॉइंट का होता है तो stop loss 5 पॉइंट का होगा और यदि उसका रेंज 5 पॉइंट है तो आप उसका रेंज 5 पॉइंट रख सकते हैं। क्योंकि 5 पॉइंट इस मार्किट में स्टॉक एक नार्मल stop loss के हिसाब से मानते है। तो दोस्तों इस तरीके से आप फॉलो करके आप मार्किट में अच्छी पोजीशन क्रिएट कर सकते है। hindi me marubozu technical analysis

अंतिम शब्द 

तो दोस्तों ये थी हमारी आज की पोस्ट जिसमे हमने मारुबुजो टेक्निकल analysis कैसे करें इसके बारे हिंदी में पूरी जानकारी के बारे में जाना। आशा करता हूँ की आपको आज के इस लेख में दी गयी मारुबुजो टेक्निकल analysis कैसे करें के बारे में जानकारी समझ आ गयी होगी और आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। यदि फिर भी आपको इस लेख में कुछ समझ नहीं आया हो या फिर मारुबुजो टेक्निकल analysis से जुड़ा कोई सवाल आपके मन में है तो आप हमे नीचे कमेंट करके पूछ सकते है. हमारी टीम बहुत जल्द आपसे जुड़कर आपकी पूरी सहायता करेगी। इसी तरह की शेयर मार्किट से जुडी जानकारी पाने के लिए हमारी साइट से जुड़े रहे हमारी कोशिश रहेगी की आपको हर दिन शेयर मार्किट बारे में कुछ ना कुछ नया शेयर करते रहे. इसके साथ ही यदि आपको आज का आर्टिकल यह उपयोगी रही हो तो इस आर्टिकल को सोशल मीडिया अपने दोस्तों शेयर ज़रूर करे। hindi me marubozu technical analysis

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top